Book summary In HindiLife hacks

How to win friends and Influence People In Hindi

हाउ टू विन फ्रेंड्स एंड इन्फ्लुएंस पीपल.

How to win friends and infulence people in hindi book summary

किसी ने ठीक ही कहा हिया, किसी भी इंसान को प्रभावित कर उनसे काम निकलवाना एक कला होती है…..और इस किताब में दिए गए उसूलो की मदद से आप इसी कला को सीखेंगे

तो चलिए सबसे पहले हम उन fundamental टेक्नीक्स की बात करते है, जिनसे आप लोगो को आसानी से अपने वश में कर सकते है.

#उसूल 1 – Don’t criticise, condemn or complain

यानि लोगो की कडवे शब्दों में आलोचना, निंदा और शिकायत ना करे.

उसूल 1 हम से ये कहता है कि किसी भी व्यक्ति की आलोचना या निंदा करने से पहले हम उस व्यक्ति को समझने की कोशिश करे कि वो व्यक्ति इस तरह से बर्ताव क्यों करता है और इसके पीछे की वजह क्या है ?

सच मानिए ये आलोचना और निंदा करने से ज्यादा फायदेमंद होगा क्योंकि ऐसा करने से उस व्यक्ति के साथ-साथ हम में भी सहनशील होने के भाव जागृत होते है.

#उसूल 2 – Give honest and sincere appreciation.

यानी पूरी ईमानदारी और अच्छी नियत के साथ सामनेवाले की प्रशंशा करे.

एक ऐसा भी तरीका है जिससे हम किसी भी इन्सान से कुछ भी करवा सकते है और दूसरा उसूल यही सिखाता है कि किस तरह से हम ऐसा करने में कामयाब हो सकते है अगर हम तहेदिल से और पूरी ईमानदारी के साथ किस व्यक्ति की प्रशंसा करते है तो इसकी छाप उस व्यक्ति के दिलो-दिमाग से जिंदगी भर नहीं छूटती. वो हमेशा आपकी इस प्रशंसा को संजोए रखता है और ऐसे में ये लाजिमी हो जाता है कि वो आपकी कही हुई बात को माने. . और आपको पसंद करे.
#उसूल 3 – किसी अन्य व्यक्ति के मन में उत्सुकता जागरूक करना यानी लोगों को सकारात्मक रूप से प्रेरित या प्रोत्साहित करना.

इसका बड़ा साधारण सा उदहारण है, जब आपके पास एक बहुत ही ज़बरदस्त आईडिया है तो लोगो को ये कभी ना सोचने दे कि वो आईडिया आपका है बल्कि उसको बड़ी ही समझदारी से लोगों के दिमाग में घोल दो ताकि उनको लगे ये आईडिया सिर्फ आपका ही नहीं बल्कि उनका भी है. ऐसा करने से लोग इसे अपनी योजना समझकर और भी ज्यादा मददगार साबित होंगे. इस मनोवैज्ञानिक सोच का हम बड़ी आसानी से अपनी प्रोफेशनल जिंदगी में इस्तेमाल कर सकते है.

#उसूल 4– Become genuinely interested in other people.

यानि सही मायनों में लोगों में अपनी दिलचस्पी दिखाना

अगर आप चाहते है कि लोग आपको पसंद करे, और अगर आप सच्ची दोस्ती कायम करना चाहते है तो इस उसूल को हमेशा ध्यान में रखे. अगर हम किसी के सच्चे दोस्त बनना चाहते है तो हमें पूरी लगन से उनके लिए अपने वक्त के साथ-साथ अपना मन भी इन्वेस्ट करना होगा और अपने स्वार्थ को परे रखना होगा. जिसका एक बहुत ही सही उदाहरण ये है कि जब हम किसी के साथ दोस्ती की शुरुवात करते है और अगर इसी शुरुवाती समय में उसी की मात् भाषा बात करते है तो वो व्यक्ति हमें ज्यादा पसंद करता है. अब इससे हमारा मतलब ये बिलकुल नहीं है कि आप लोगो की हाँ में हाँ मिलाये |

#उसूल 5 –याद रखिये, किसी भी व्यक्ति के लिए उसका नाम सबसे महत्वपूर्ण होता है चाहे वो किसी भी भाषा में लिया जाए..

हर इंसान के लिए उसका अपना नाम सबसे ज्यादा ज़रूरी होता है. वर्ना ऐसे ही थोड़ी ना हर कोई अपने नाम को रोशन करना चाहता है.
प्रसिद्ध लेखक शेक्सपीयर ने बखूबी कहा है” व्ट्स इन अ नेम?” यानी “नाम में क्या रखा है?”

लेकिन साहब शायद ये बात भूल गए कि हर इंसान के लिए सबसे ज्यादा ज़रूरी होता है उसका नाम. क्यंकि नाम की वजह से ही हम एक दुसरे से अलग है. नाम हर इंसान की पहचान होती है और अगर हम किसी इन्सान को उसके नाम से बुलाये तो ये ज्यादा कारगर साबित होता है.

तो देखा दोस्तों, इन सभी उसूलो को अब आप अच्छी तरह से जान चुके हो तो इनका अभ्यास कीजिये और देखिये कि किस तरह आपके आस-पास के लोग आपको पसंद करने लगेंगे.
तो दोस्तो लोगो को वश में करने और लोगों का पंसदीदा बनने के बाद अब हम जानेगे कि अपनी सोच से लोगो को कैसे जीता जा सकता है, तो ये बहुत ही आसान है बस निचे दिए गए कुछ  बिंदु को follow करे-

उसूल 1 – एक ज़बरदस्त बहस को एक ही तरीके से जीता जा सकता है और वो है उसकी उपेक्षा करके ..जी हाँ.
प्रिंसिपल 2 –दुसरो की सलाह की इज्ज़त करो, ये कभी ना कहें कि “ तुम गलत हो”

उसूल3 – अगर आप गलत है तो तुरंत ही अपनी गलती को मानकर माफ़ी मांगे लेना आपके लिए फायदेमंद रहेगा.

तो दोस्तों कैसा लगा ये book summary – How to win friends and infulence people book summary in hindi

Tags

admin

मैं शिवम UP से मुझे लिखना और लोगो से जानकारी शेयर करना बेहद पसंद है , ये वेबसाइट specially students के लिए ही बनाया गया है

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker